May 22, 2024

Sahi Khabar

Let's Know The Truth

पति की मौत के बाद पत्नि की भी हुई मौत,दोहरे हत्याकांड़ में पुलिस अब तक खाली हाथ

htyakandपति की मौत के बाद पत्नि की भी हुई मौत,दोहरे हत्याकांड़ में पुलिस अब तक खाली हाथ
सरधना (मेरठ) खिवाई के कलवा हत्याकांड़  के बाद एक सप्ताह तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद मंगलवार को पत्नि की भी उपचार के दौरान  दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई है । जिसके बाद अब यह दोहरा हत्याकांड़ बन गया है और पुलिस इस संगीन अपराधिक मामले में भी किसी को पकड़ नही पाई है। जबकि तीसरी घायल का अभी अस्पताल में उपचार चल रहा है।
गौरतलब है कि थाना सरूरपुर क्षेत्र के गांव खिवाई निवासी कलवा के कोई संतान नही थी और उसके नाम पर 22 बीघा जमीन थी। उसने गांव के ही भूरा पुत्र शब्बीर को गोद ले रखा था और उसके  ही नाम उक्त जीमन को एक सप्ताह पूर्व वसीयत करना चाहता था। लेकिन इसका उसके सगे भाई व भतीजों विरोध करते थे। और जान से मारने की धमकी दे रहे थे। इसी कड़ी में गत पंद्रह मार्च की रात को कलवा के दो भतीजों  हारुन पुत्र याकूब,सुलेमान पुत्र  नूर मोहम्मद व नूर मोहम्मद पुत्र मसूक ने मिलकर कलवा उसकी पत्नि मुख्तरी व गोद लिए भूरा की पत्नि नाजिश पर गोलियां बरसाकर हत्या करने की कोशिश की थी। जिनमें से कलवा तो मौके पर ही मौत हो गई थी।  जबकि उसकी पत्नि मुख्तरी व नाजिश के भी गोलियां लगी थी जिसके चलते वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी।  इनमें से मुख्तरी की हालत उसी दिन से चिंताजनक बनी हुई थी और उसे हाल ही में उपचार के लिए दिल्ली ले जाया गया था जहां उसकी मंगलवार को उपचार के दौरान मौत हो गई। जबकि भूरा  की पत्नि नाजिश का अभी मेरठ के अस्पताल में उपचार चल रहा है। मुख्ततरी की मौत के बाद अब यह दोहरा हत्याकांड़ बन गया है। लेकिन इस दोहरे हत्याकांड़ के एक सप्ताह बाद भी पुलिस आज तक कुछ नही कर पाई है और खाली हाथ बैठी हुई है। अब निसंतान दंपति की हत्या के बाद सवाल खडा हो गया है कि उनकी मोत का कारण बनी 22 बीघा जमीन का मालिक कौन बनेगा। इसे लेकर पुलिस व गांव वालों के सामने चुनौती खड़ी हो गई है। उधर,पीएम के बाद देर शाम मुख्त्यारी का शव उसके मायके थाने के गांव नाहली मे लेजाकर  सुपुर्देखाक कर दिया गया है। पुलिस ने बताया कि मुख्तरी के घर पर ताला लगा दिया गया है।
———————————————————————-
दंपति की मौत के बाद लाखों रुपये की नगदी व माल लूट ले गए गांव वाले
सरधना (मेरठ)  कहतें हैं कि इंसानियत अब बहुत कम जिंदा रह गई है और लोगों को माल लूटने-खसौटने की आफत सी हो गई है। कुछ ऐसा ही हुआ है खिवाई के कलवा हत्याकांड़ में कलवा की हत्या के बाद दरअसल 22 बीघा जमीन के मालिक कलवा के घर पर कई पशु बंधे हुए थे और दो टेÑक्टर खडे थे संदूक में कुछ नगदी भी रखी थी और घर में रखी अनाज की चार टंकिया अनाज से फुल थीं। लेकिन कलवा के मरने व पत्नि मुख्तरी के अस्पताल में जाने के बाद इस माल को उसके गांव वाले ही लूट खसौट करके ले गए और आज तक ये पता नही लगा है कि माल कहां गया और कौन ले गया। जबकि लाखों रुपये के इस माल को गांव वालों ने सारी शर्माे हया ताक पर रखकर माल पार कर दिया। हालांकि शिकायत पर बाद में पुलिस ने कलवा के मकान पर ताला डाला। जिसके बाद लूट-खसौट बंद हुई। इसे लेकर माल लूटने वाले लोगों पर लोगों ने लानत भेजी है जो मरने के बाद दूसरे का माल लूट ले गए है ।
error: Content is protected !!