May 24, 2024

Sahi Khabar

Let's Know The Truth

पत्रकार हितों की रक्षा के लिये मीडिया जगत के एकजुटता दिखाते हुए मुख्य मंत्री को भेजा ज्ञापन

gyapanपत्रकार हितों की रक्षा के लिये मीडिया जगत के एकजुटता दिखाते हुए मुख्य मंत्री को भेजा ज्ञापन 
पत्रकारों पर हो रहे उत्पीड़न को लेकर हुआ चिंतन
सरधना (मेरठ)  रविवार को हर्रा मोड़ पर देहात क्षेत्र के पत्रकारों की बैठक में मेरठ और बागपत जिले के पत्रकारों ने एक जुटता दिखाते हुए भारी संख्या में भागलेते हुए एकता के लिये हुंकार भरी बैठक में पहुंचे एडीएम प्रशासन और एसपी देहात को पत्रकारों पर आए दिन हो रहे उत्पीडन और विभिन्न मांगों और मुद्दों को लेकर मुख्य मंत्री के नाम प्रेषित एक ज्ञापन भी दिया गया। इस मौके पर पत्रकारों व अधिकारियों ने आपस में कैसे बेतहर तालमेल बने इस पर भी  विचार रखते हुए मंथन किया।
रविवार को हर्रा मोड़ पर एपीएस ग्रुप के आत्मन पब्लिक स्कूल में पत्रकारों की एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में मेरठ और बागपत जिले के इलैक्ट्रोनिक व प्रिंट मीडिया जगत से जुडे पत्रकारों ने भा लिया। ग्रामीण अंचलीय पत्रकारों द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मीडिया जगत से जुडे पत्रकारों ने एकजुटता दिखाते हुए उपस्थित दर्ज कराई। बैठक में पत्रकारों सामने देहात क्षेत्र में आने वाली समस्याओं एक दूसरे ने अवगत कराते हुए कहा कि शहरी क्षेत्र के मुकाबले में देहात क्षेत्र में रिपोर्टिंग करना देहात के पत्रकार के लिये बडा जोखिम भरा काम होता है और कई बार मौत के मुंह में जाने के बाद भी वह अपने संस्थान व पेशे के प्रति वफादारी दिखाते हुए खबर पूरी करता है। इतना सब होने के बाद भी  देहात और शहरी क्षेत्र के पत्रकारों में पुलिस-प्रशासन स्तर से लेकर संस्थानों तक भेदभाव किया जाता है जिससे देहात क्षेत्र का पत्रकार अपने आप को पेक्षित महसूस करता है। बैठक में सीनियर पत्रकार जेपी त्यागी ने विचार रखते हुए कहा कि पत्रकार को दोस्ती भी  देखकर अच्छे व्यक्तित्व से करनी चाहिए। अक्सर दूसरों को आईना दिखाने वालो पत्रकार को अपने अंदर व बाहर झांक कर देखना चाहिए। बैठक में कुलदीप कुशवाहा ने भी  विचार रखते हुए कहा कि आज देहात क्षेत्र में कुछ पत्रकारों को बदनाम करने के लिये विभिन्न संगठनों और एनजीओं से जुडे लोगों के उतरने से माहौल बिगडा है। इसके अलावा सरधना से आए साजिद कुरैशी व चौधरी हरेन्द्र ने भी विचार रखते हुए पुलिस-प्रशासन और मीडिया के कैसे अच्छे रिलेशन बने रहें। इस पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पत्रकारों को सबसे पहले सामाजिक हित व अपने दायरे को देखते हुए रिपोर्टिंग करनी चाहिए इससे कभी भी आपसी तालमेल व संबंध खराब नही होते हैं। बैठक में एडवोकेट श्रवण कुमार ने भी  विचार रखते हुए अपने संबोधन कहा कि आज हमारे देश में मीडिया के लोगों को उत्पीडन किया जा रहा है इसके लिए हमें कुजटता दिखाते हुए आपसी मत भेद भूलकर एक समिति का गठन करके अपने हितों के लिसे लडाई लडने के लिये आगे आना होगा। बैठक में बतौर मुख्य अतिथि एडीएम प्रशासन दिनेश चंद ने कहा कि अर्से से प्रशासन के संबंध मीडिया से मधुर रहे हैं और कभी भी  खराब नही हो सकते हैं हालांकि कुछ लोग दोनों समाज मे ऐसे हो सकते हैं जो कुछ गलत कर देते हैं और पूरा समाज बदनाम होता है उन्होंने कहा कि मीडिया और प्रशासन एक ताना बाना जैसा है जब ये बुना नही जाता तो अधूरा रहता है। इसके अलावा बैठक में एसपी देहात डॉ.प्रवीन रंगज ने भी  विचार रखते हुए संबंंध मधुर बनाने पर जोर दिया। अंत में मुख्यमंत्री के नाम एक आठ सूत्री मांगों को लेकर एक ज्ञापन भी दिया गया।  बैठक का संचालन लुकमान चौहान ने किया जबकि आयोजक इरशाद चौधरी,हरेंद्र चौधरी व शाह आलम ने सभी का स्वागत किया । मुख्य रूप से दानिश अंसारी,बेताब,राहुल राणा,मनव्वर चौहान,अहमद हुसैन ,दिपक कुमार,गौरव त्यागी,अशोक सोम,रिहान खॉन,मनोज कलीना,विरपाल चौधरी,धु्रव सिंह,संजीव शर्मा,धर्मपाल सैनी,विनोद कुमार त्यागी,धर्मपाल गिरी,अनवर खांन,अमित शर्मा,संजय शर्मा,फिरोज ,दिनेश जैन आदि रहे।
error: Content is protected !!