May 22, 2024

Sahi Khabar

Let's Know The Truth

फौजी के बेटे की जाँच को लेकर क्राइम ब्रांच की टीम पहुंची खेड़ा गांव

फौजी के बेटे की जाँच को लेकर क्राइम ब्रांच की टीम पहुंची खेड़ा गांव,
बेटे की हत्या का खुलास करने की मांग को लेकर फौजी ने किया था आत्मदाह का प्रयास 
 खेड़ा निवासी फौजी के बेटे के लापता होने के बाद गांव के तालाब में मिला था शव 
इस संबंध में मृतक के परिजनो ने की थी उच्चस्तरीय जांच की मांग 
सरधना (मेरठ) फौजी के मासूम बेटे की हत्या के मामले में क्राइम ब्रांच की टीम शुक्रवार को खेड़ा गांव पहुंची और मामले की बारीकी से जांच पड़ताल की। टीम ने मृतक बच्चे के परिजनों व ग्रामीणों से काफी देर तक बात करने के साथ तालाब के रास्ते की पैमाइश भी की।
बतादें की गत 24 नवंबर की शाम को गांव खेडा से फौजी अंकित सोम का ढाई वर्षीय पुत्र घर में खेलते समय गायब हो गया था। इस संबंध में अंकित सोम के बड़े भाई शिवकुमार सोम पुत्र सबाजीत सिंग ने बताया था की वह शाम लगभग पांच बजे घर में पूजा कर रहा था। उसी समय उसका ढाई वर्षीय भतीजा आभास अचानक गायब हो गया था। जिसके बाद गांव में पहुंची पुलिस व परजिनों ने रात भर बच्चे की तलाश की थी । 25 नवंबर की सुबह एसपी देहात राजेश कुमार, सीओ संतोष कुमार एसओ धर्मेन्द्र सिंह राठौर पुलिस फ़ोर्स के साथ गांव पहुंचे थे और बारीकी से मामले की जानकारी ली थी। इसी के साथ डॉग स्क्वायड टीम को बुलाया गया था। इसके अलावा अधिकारीयों ने गोता खोरों को बुलाकर निकट के तालाब में भी बच्चे की तलाश कराई थी। इस संम्बंध में पुलिस ने शिवकुमार की तहरीर पर 25 नवंबर  को अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। 28 नवंबर को एसएसपी मंजिल सैनी ने भी गांव पहुंचकर फौजी अंकित व उसके परिजनों से मुलाक़ात की थी और तालाब में जाल डलवाकर आभास की तलाश कराई थी। 30 नवंबर की शाम आभास का शव गांव के उसी तालाब में तैरता मिला था जिसमे पुलिस दो बार जाल डलवा चुकी थी। पीएम रिपोर्ट में हत्या का कोई संकेत नहीं मिला। जिसके बाद गांव खेड़ा में मृतक के परिजनों ने पंचायत बुलाई थी जिसमे विधायक संगीत सोम को भी बुलाया गया था, परिजनों ने आभास की हत्या की आशंका जताई थी उनका कहना था की जिस तालाब से आभास का शव मिला है उस तालाब में कई बार गोताखोर उतारे थे और जाल भी लगाया था लेकिन आभास नहीं मिला था उन्होंने आभास की हत्या कर शव तालाब में फैके जाने की आशंका जताई थी और इस मामले की उच्चस्तरीय जाँच कराए जाने की गुहार लगाई थी । इस संबंध में फौजी कुछ ग्रामीणों के साथ एसपी देहात राजेश कुमार से मिला था। फौजी अंकित का अरोप है की एसपी देहात ने उनसे बदसुलूकी की है। इस संबंध में फौजी अंकित सोम ने मुख्यमंत्री को भी पत्र लिखा था जिसमे एसपी देहात पर बदसलूकी करने का आरोप लगाते हुए बेटे आभास की हत्या होने व उसकी उच्चस्तरीय जाँच कराए जाने की मांग की थी । 12 दिसंबर की सुबह फौजी अंकित अपने परिजनों व सैकड़ों ग्रामीणों के साथ ट्रैक्टर ट्रॉलियों में सवार होकर सरधना तहसील प्रांगण पहुंचा था और एसडीएम कार्यालय सामने धरना प्रदर्शन करते हुए अपने ऊपर पैट्रोल छिड़क कर आत्महत्या का प्रयास किया था। विधायक संगीत सोम ने घटना का खुलासा कराने का आश्वासन दिया था जिसके बाद धरना प्रदर्शन समाप्त हुआ था। शुक्रवार को क्राइम ब्रांच निरीक्षक अरुण कुमार वर्मा टीम के साथ खेड़ा गांव पहुंचे और घटना की बारीकी से जाँच की क्राइम ब्रांच की टीम ने अंकित सोम के घर से तालाब तक पहुँचने वाले तीनो रास्तों की पैमाइश की और तालाब की गहराई भी नापी और ग्रामीणों से सहयोग की अपील भी की। अंकित सोम के परिजनों को भी घटना का शीघ्र खुलासा करने का आश्वासन दिया गया।
error: Content is protected !!