May 24, 2024

Sahi Khabar

Let's Know The Truth

बैंक का ऋण चुकाए बिना संपत्ति को बेचा, मैनेजर ने दी थाने पर तहरीर

बैंक का ऋण चुकाए बिना संपत्ति को बेचा, मैनेजर ने दी थाने पर तहरीर
सरधना (मेरठ) गांव  छुर स्थित ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के मैनेजर ग्रीस वाष्र्णेय पुत्र स्व० राजकुमार ने बुधवार को सरधना थाने पर दी तहरीर में बताया कि मुल्हेड़ा निवासी व्यक्ति ने कृषि जमीन को बंधक रखकर बैंक से ऋण लिया था मगर आरोपी ने बिना बैंक  ऋण चुकाए उक्त संपत्ति को गांव के ही दूसरे व्यक्ति को बेच दिया है। बैंक मैनेजर ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की है। समाचार लिखे जाने तक मामले की रिपोर्ट दर्ज नहीं हो सकी है।
तीन अधिकारियों व एक नेता पर लगाया चेयरमैन के खिलाफ चल रही जांच को प्रभावित करने का आरोप
सरकारी नंबर २७८७ पर अवैध कब्जा कर दुकानें बनाकर बेचने के आरोपों का सामना कर रहे है चेयरमैन
पूर्व सभासद राजपाल पत्रकार ने डीएम को पत्र भेज की निष्पक्ष जांच की मांग
सरधना (मेरठ)  पालिका चेयरमैन असद गालिब के खिलाफ सरकारी जमीन कब्जाने व उस पर दुकानें बनाकर बेच देने की शिकायत करने वाले राजपाल पत्रकार ने डीएम को प्रार्थना पत्र देते हुए तीन अधिकारियों व एक नेता पर जांच को प्रभावित करने का आरोप लगाया है।
नगर पालिका के पूर्व सभासद राजपाल पत्रकार ने बताया कि उन्होंने पालिका चेयरमैन असद गालिब के खिलाफ सरकारी नंबर २७८७ पर अवैध कब्जा कर दुकानें बनाकर बेचने की शिकायत की हुई है जिसकी जांच चल रही है। पूर्व में लेखपाल व एसडीएम द्वारा की गई जांच में यह बात सामने आ चुकी है कि चेयरमैन असद गालिब ने सरकारी नंबर २७८७ में दुकानें बनाकर बेच दिया है। तत्कालीन एसडीएम ने जांच रिपोर्ट जिला प्रशासन को भेज दी थी मगर एक सफेदपोश नेता के माध्यम से जिला मु यालय पर तैनात एक अधिकारी से सांठगांठ कर उक्त जांच को वापस तहसील भिजवा दिया गया था। तहसील सरधना में तैनात दो अधिकारियों से भी उक्त नेता के माध्यम से चेयरमैन ने सैंटिग कर जांच को अपने पक्ष में कराने का पूरा प्रयास किया तथा जांच करीब आठ माह से तहसील मेें ही इधर से उधर घूम रही है। पूर्व सभासद ने बताया कि ३० दिसंबर २०१५ को उसने एक पत्र डीएम को दिया था जिसमें चेयरमैन के खिलाफ चल रही जांच में एक कमेटी का गठन करने की मांग की थी। डीएम पंकज यादव ने आइएएस अधिकारी दिव्या मित्तल को जांच अधिकारी बनाया है तथा २३ फरवरी को दिव्या मित्तल द्वारा सरधना आकर जांच की गई है। पूर्व सभासद का कहना है कि तहसील में तैनात एक अधिकारी चेयरमैन असद गालिब का पक्ष लेकर उन्हें बचाने का प्रयास कर रहे है। राजपाल ने बताया कि उन्होंने डीएम पंकज यादव व जांच अधिकारी दिव्या मित्तल से को भी एक प्रार्थना पत्र देकर इन अधिकारियों को जांच से दूर रखने की मांग की है। उधर जानकारी मिली है कि चेयरमैन असद गालिब के खिलाफ दिए गए प्रार्थना पत्र पर दिव्या मित्तल द्वारा तहसील से कराई गई जांच पूरी हो गई है तथा जल्द ही तहसील से उक्त जांच को मेरठ भेज दिया जाएगा।
error: Content is protected !!