May 24, 2024

Sahi Khabar

Let's Know The Truth

मेरठ में पुलिस ने सपा नेताओं को किया गिरफ्तार, बाद में छोड़ा

लखीमपुर खीरी में हुई घटना को लेकर सपाइयों ने किया धरना प्रदर्शन
– पुलिस ने सपा नेताओं को किया गिरफ्तार, बाद में छोड़ा
साजिद कुरैशी की रिपोर्ट
मेरठ। लखीमपुर खीरी की हिंसक घटना को लेकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को कमिश्नरी चौराहे पर जमकर हंगामा करते हुए नारेबाजी की। कार्यकर्ता कमिश्नरी ऑफिस के सामने सड़क पर बैठ गए और रास्ता जाम कर दिया। सपा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश की भाजपा सरकार को बर्खास्त करने की मांग की। उधर किसी अप्रिय घटना के खतरे को देखते हुए पुलिस ने समाजवादी पार्टी के शहर विधायक रफीक अंसारी, पूर्व कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर और सपा जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह साकिब सईद समेत कई सपा नेताओं को हिरासत में ले लिया है।
अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा पदाधिकारी और कार्यकर्ता कमिश्नरी पहुंचे और लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा को लेकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। उन्होंने सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। सपा कार्यकर्ताओं ने लखीमपुर खीरी की घटना के दोषियों को फांसी देने की मांग की। साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का इस्तीफा मांगते हुए सरकार को बर्खास्त करने की मांग की गई।
सपा नेताओं ने कहा कि लखीमपुर हिंसा के प्रत्येक मृतक के परिवार को दो करोड़ की आर्थिक मदद व सरकारी नौकरी दी जाए। गृह राज्य मंत्री और उपमुख्यमंत्री भी इस्तीफ़ा दें और दोषियों को धारा 302 के तहत तत्काल जेल भेजा जाए। धरना प्रदर्शन में शामिल सपा नेताओं को पुलिस शांति रखने और सड़क खाली करने के लिए समझाती रही , लेकिन कार्यकर्ता अपनी जिद पर अड़े रहे। कार्यकर्ताओं का कहना था कि बेशक उन्हें गिरफ्तार कर लो, लेकिन वे नहीं उठेंगे।
 इस पर पुलिस ने बड़ी संख्या में प्रदर्शन कर रहे सपा नेताओं को गिरफ्तार कर लिया। जिन सपा नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है उनमें सपा जिलाध्यक्ष चौधरी राजपाल सिंह, पूर्व मंत्री शाहिद मंजूर, शहर विधायक रफीक अंसारी, जिला पंचायत सदस्य सम्राट मलिक, नवाजिश शाहिद, नेहा गौड़, वसी, महानगर अध्यक्ष आदिल सिद्दीकी साकिब सईद सहित और कई सपा नेता शामिल हैं। इनकी गिरफ्तारी के बाद पूर्व विधायक योगेश वर्मा अतुल प्रधान ने भी अपने साथियों के साथ गिरफ्तारी दी।
—–
फोटो
error: Content is protected !!