May 24, 2024

Sahi Khabar

Let's Know The Truth

हिन्दू धर्म के खिलाफ नारे बाजी करने के मामले में हुई कार्यवाई को लेकर एक संप्रदाय के लोगों में रोष

हिन्दू धर्म के खिलाफ नारे बाजी करने के मामले में हुई कार्यवाई को लेकर एक संप्रदाय के लोगों में रोष 
अबतक हुई पुलिस कार्यवाई पर लगा सवालिया निशान 
अन्य आरोपियों की गिरफ़्तारी न होने से मुस्लिम समाज में फैला आक्रोष 

सरधना (मेरठ) गत बुद्धवार को नगर में आरक्षण बचाओ संघर्ष मोर्चा के बैनर तले नारे नारेबाजी कर रहे युवकों द्धारा हिन्दू धर्म के खिलाफ नारे बाजी करने के मामले में जहाँ हिन्दू संगठनों द्धारा की गई कार्यवाई की मांग में भेदभाव नजर आया वही अभी तक पुलिस द्धारा की गई कार्यवाई भी भेदभाव से भरी नजर आरही है। जिसके चलते एक समुदाय के लोगों में भारी रोष व्याप्त है। यदि पुलिस ने जल्द है निष्पक्ष कार्यवाई नहीं की तो यह मामला बड़ा रूप ले सकता है। जिसके लिए एक संप्रदाय के लोग ताना बाना बनाने में जुट गए है। बतादें की गत बुद्धवार को नगर के मोहल्ला भाटवाड़ा स्थित अंबेडकर धर्मशाला में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के तत्वाधान में एक बैठक का आयोजन किया गया था । जिसमें वक्ताओं ने जनपद मुजफ्फरनगर के लोई गांव निवासी युवक कुलदीप की हरियाणा मेें आरक्षण की मांग कर रहे लोगों द्वारा की गई निर्मम हत्या पर विरोध जताया गया था । बैठक के बाद नारेबाजी करते हुए आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के पदाधिकारी व कार्यकर्ता पुलिस चौकी चौराहे पर पहुंचे तथा जाम लगाते हुए नारेबाजी शुरू कर दी थी । बताया गया कि इसी दौरान प्रदर्शन में शामिल कुछ युवको ने  हिंदू धर्म के खिलाफ नारेबाजी भी की थी । हिंदू धर्म के खिलाफ नारेबाजी को सुनकर कुछ हिन्दू धर्म के युवाओं में आक्रोश फैल गया था जिसके बाद कई हिन्दू संगठन सक्रीय हो गए थे। यह मामला पुलिस प्रशासन के अधिकारीयों तक पहुंचा तो पुलिस मामले की जाँच में जुटी और नारेबाजी करने वालों की वीडियो क्लीपिंग के जरिये कुछ युवकों की पहचान की गई जिसके बाद पुलिस ने नारे बाजी करने में शामिल आरक्षण बचाओ संघर्ष मोर्चा के तहसील अध्यक्ष अमित गौतम ,गौरव पार्चा व एआईएमआईएम के नगर अध्यक्ष वलीउर्रहमान सहित आठ लोगों के खिलाफ धारा 143/153/188/341 में मुकदमा दर्ज कर दिया था। गुरुवार को विभिन्न हिन्दू संगठनो से जुड़े लोग आरोपियों की गिरफ़्तारी को लेकर भाजपा विधायक संगीत सोम के कार्यालय पर एकत्रित हुए यहाँ से आरोपियों की गिरफ़्तारी के साथ विभिन्न प्रकार की नारे बजी करते हुए थाने पहुंचे थे । यहाँ विश्व हिन्दू परिषद के संगठन मंत्री सुदर्शन महाराज जिला प्रचारक राजकुमार डूंगर मिलन सोम संगीत सिंह सोम सेना के प्रदेश अध्यक्ष सचिन खटीक नगर अध्यक्ष अजित सिंह सैनी जिला मंत्री राजीव वर्मा बजरंग दाल के संगठन प्रभारी विकास कुमार भाजपा से प्रवीण जैन राजीव जैन मोहित ठाकुर आदि द्धारा थाने में मौजूद सीओ बृजेश कुमार सिंह व तहसीलदार रंजीत कुमार को ज्ञापन देते हुए सिर्फ वलीउर्रहमान को गिरफ्तार कर जेल भेजे जाने की मांग की गई थी। जबकि हिंदू धर्म के खिलाफ नारे बाजी करने में अधिकांश युवक दलित व बाल्मीकि समाज से थे। हिन्दू संगठनो से जुड़े लोगों ने एक बार भी हिन्दू समाज से जुड़े आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात नहीं कही थी जिससे हिन्दू संगठनो से जुड़े लोगों का भेदभाव साफ़ नजर आया था । इस मामले में पुलिस हिन्दू संगठनो के दबाव के चलते शुक्रवार के दिन वलीउर्रहमान को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। शनिवार को हिन्दू संगठनों से जुड़े उक्त लोगों ने एसडीएम को ज्ञापन देकर जेल भेजे गए वलीउर्रहमान पर रासुका लगाए जाने की मांग भी की थी इस मांग पत्र में भी सिर्फ वलीउर्रहमान को ही निशाना बनाया गया था । अब पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी प्रश्न चिन्ह लगता नजर आरहा है की पुलिस अभी तक जांच में आए दलित व बाल्मीकि समाज व हिन्दू धर्म से जुड़े अन्य  युवकों में से किसी एक को भी नहीं पकड़ सकी है। जिसके चलते मुस्लिम समाज में पुलिस के प्रति आक्रोश फैलता नजर आरहा है। यदि पुलिस निष्पक्ष कार्यवाई करने में चूक करती है तो यह मामला तूल पकड़ सकता है। इस संबंध में रालोद नेता आगा ऐनुद्दीन शाह से बात की गई तो उन्होंने कहा की हिंदुस्तान का कानून सभी के लिए एक समान है। क्राइम करने वाला किसी भी धर्म व जाति से हो कानून की धाराएं सभी के लिए एक है। इस घटना क्रम में पुलिस को चाहिए की जिस प्रकार का दबाव बनाकर वलीउर्रहमान को जेल भेजा गया है उसी तरह अन्य आरोपियों को भी पकड़ कर जेल भेजे। सपा के नगर अध्यक्ष सय्यद मुमताज अली का कहना है की यदि पुलिस प्रशासन कुछ संगठनो के दबाव में काम करेगा तो उसपर सवालिया निशान लगेगा इस मामले मे भी पुलिस निस्पक्ष कार्यवाई करते हुए वीडियो क्लीपिंग में पहचाने गए लोगों को भी शीघ्र गिरफ्तार करे नहीं तो दूसरे समाज के लोगों में आक्रोश फैलना स्वाभाविक है जो पुलिस के लिए ठीक नहीं होगा। इससे क्षेत्र का माहौल बिगड़ सकता है।

error: Content is protected !!