May 22, 2024

Sahi Khabar

Let's Know The Truth

सरधना में धार्मिक स्थल की दीवार पर नारे लिख किया माहौल बिगाड़ने का प्रयास

1सरधना में धार्मिक स्थल की दीवार पर नारे लिख किया माहौल बिगाड़ने का प्रयास 
मौके पर पहुंची पुलिस पर भी किया पथराव 
पुलिस ने मौके से तीन युवकों को किया गिरफ्तार 
भाजपा व सपा नेताओं के भारी दबाव के चलते रात में छोड़ दिया गया युवकों को 
दूसरे सम्प्रदाय के लोगों ने धैर्य रख दिया शांति का पैगाम 
लेकिन पकडे गए युवकों के छोड़े जाने पर फैला आक्रोष 
पुलिस के मुताबिक एक एक लाख से किया गया मुचलका पाबंद 

सरधना (मेरठ) दुल्हेंडी के दिन कुछ असमाजिक ततवों ने नगर का माहौल बिगाड़ने का पूरा प्रयास किया। भनक लगने पर पहुंची पुलिस से भी युवकों की जमकर नोक झोक हुई जिसके बाद युवकों ने पुलिस पर पथराव तक किया। बल प्रयोग कर पुलिस ने लोगों पर लाठियाँ भांजकर कर वहां से भगाया। इसी के साथ पुलिस ने मौके से तीन युवकों को गिरफ्तार किया। मौके की नजाकत को देखते हुए पुलिस ने धार्मिक स्थल की दीवार पर लिखे नारों के ऊपर तुरंत पुताई करादी। पकडे गए युवकों को छुड़ाने के लिए इलाके के भाजपा व सपा के दिग्गजों ने जमकर जोर लगाए लेकिन मामला गंभीर देखते हुए पुलिस ने छोड़ने से साफ़ इंकार कर दिया। लेकिन भारी दबाव के चलते रात में ही 11 बजे सपा नेता की सिफारिस पर एक व भाजपा नेता की सिफारिस पर दो को छोड़ दिया गया। शुक्रवार की सुबह जब लोगों को तीनो आरोपियों को छोड़ दिए जाने की जानकारी मिली तो एक समुदाय के लोगों में रोष फ़ैल गया। होली के त्यौहार को शांति पूर्ण ढंग से भाई चारे के साथ मनाने के लिए पुलिस प्रशासन ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी थी त्यौहार से पूर्व इलाके के गणमान्य लोगों के साथ शांति समिति  बैठक करने के पश्चात इलाके जिम्मेदार लोगों तक पहुंचकर त्यौहार के दौरान असमाजिक ततवों पर नजर रखने तथा पुलिस को सूचित कर मदद करने की भी अपील की थी। दुल्हेंडी के दिन नगर के मोहल्ला तगायान स्थित एक धार्मिक स्थल पर कुछ असमाजिक ततवों ने नगर का माहौल बिगाड़ने के उद्देश्य से धार्मिक स्थल की दीवारों पर भारत में रहना होगा तो बन्दे मातरम कहना होगा हर हर महादेव भारत माता की जय के अलावा कई भड़काओ नारे लिख दिए। इस क्षेत्र में दूसरे धर्म के लोगों का धार्मिक स्थल तो है लेकिन आबादी ना के बराबर है। इससे पहले दूसरे धर्म के लोगों को इस बात की भनक लगती मोहल्ले के ही किसी समझदार ने पुलिस को मामले से अवगत करा दिया। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी सुधीर कुमार तुरंत मौके पर पहुंचे वहां मौजूद युवकों से इसका विरोध किया तो युवक पुलिस से भिड़ गए पुलिस ने बल प्रयोग किया तो युवकों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। किसी तरह से पुलिस ने युवकों को वहां से भागने पर मजबूर किया और तीन युवकों को मौके से पकड़ लिया। पकडे गए युवकों ने अपने नाम नितिन त्यागी पुत्र जयप्रकाश त्यागी निवासी मोहल्ला तगायांन सानू जैन पुत्र अनिल जैन निवासी मोहल्ला बिचगलियारा मयंक त्यागी पुत्र विनोद त्यागी निवासी गांव कालंद बताए है। सूचना मिलने पर सीओ बृजेश कुमार सिंह भी मौके पर पहुंचे उन्होंने कहा की माहौल ख़राब करने वालों को  दशा में बख्शा नहीं जायेगा चाहे वो कोई। युवकों के पकडे जाने के बाद इलाके के भाजपा नेता व सपा नेताओं ने उक्त युवकों को छुड़ाने के लिए पुलिस पर भारी दबाव बनाया किसी ने विधायक संगीत सोम से फोन कराया तो किसी ने अतुल प्रधान से लेकिन पुलिस ने छोड़ने से साफ़ मन कर दिया। लेकिन शुक्रवार की सुबह जब लोगों को पता चला की उक्त युवकों को पुलिस ने रात्रि 11 बजे छोड़ दिया तो एक समुदाय से जुड़े लोगों में आक्रोश फ़ैल गया। जब इस संबंध में थाना प्रभारी से जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया की तीनो युवकों को एक एक लाख के मुचलके में पाबंद करते हुए जमानत पर छोड़ा गया है। लोगों में चर्चा है की पुलिस पर ऐसा कौनसा दबाव था जिसके चलते समाज का माहौल बिगाड़ने वालों को रात को ही छोड़ना पड़ा। इस घटना की जानकारी मिलने पर दूसरे समुदाय ने घटना की निंदा की है और ऐसे असामाजिक ततवों के खिलाफ कठोर कार्यवाई करनी की मांग की है।

error: Content is protected !!